मोदी को बड़ा झटका,इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तेज़ बहादुर की याचिका पर सुनाया…….

मोदी को बड़ा झटका,इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तेज़ बहादुर की याचिका पर सुनाया…….

loading...

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बनारस से सांसद चुने गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक नोटिस जारी किया है।इस नोटि स का कोर्ट ने 21 अगस्त तक जवाब मांगा है।इसके साथ ही एक निजी समाचार चैनल सहित अन्य विप क्षियों को पक्षकार से हटाने की याची की मांग मान ली है।याची अधिवक्ता को इस बारे में अर्जी दाखिल करने का समय दिया है।यह आदेश जज एमके गुप्त ने बीएसएफ से बर्खास्त सिपाही तेज बहादुर यादव की चुनाव याचिका पर दिया है।

याचिका पर वरिष्ठ वकील शैलेंद्र ने बहस की।याची का कहना है कि बनारस संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए उसने नामांकन पत्र दाखिल किया था।नामांकन पत्र में गलत जानकारी देने की बात कहकर उसे नि-रस्त कर दिया गया।उसे आपत्तियों पर जवाब दाखिल करने के लिए समय नहीं दिया गया।कानून के मुताबिक उसे जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय मिलना चाहिए,जो नहीं दिया गया।

loading...

आप को बता दें कि तेज बहादुर ने इस साल हुये लोकसभा चुनाव में बनारस से चुनाव लड़ने के लिए अपना पर्चा दाखिल किया था,लेकिन उन्हें चुनाव लड़ने से रोक दिया गया था। तेज बहादुर सब से पहले उस वक़्त चर्चा में आए थे,जब उन्होने सेना में खराब खाने की शिकायत की थी और खाने का एक विडियो वायरल किया था।

उसके बाद उन्हें सेना से बर्खास्त कर दिया गया था।उसके बाद से लगातार वह भाजपा के खिलाफ मुहिम चला रहे थे,और आखिर में उन्होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था। लेकिन उनका पर्चा खारिज हो गया था,जिसके बाद वह चुनाव नहीं लड़ पाये। थे।

और पर्चा खारिज किए जाने पर वह कोर्ट चले गए थे।जिस पर अब सुनवाई शुरू हुई है।तेज बहादुर ने जो याचिका दाखिल की हा,उस में कि चुनाव अधिकारियों पर राजनितिक दबाव में निर्णय लेने का आरोप लगाया गया है।इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया गया है।याची का नामांकन बीएसएफ से उसकी बर्खास्तगी की जानकारी छिपाने के आधार पर निरस्त हुआ है। अब इसी मामले को लेकर कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस भेज दिया है।

loading...

Leave a Comment

%d bloggers like this: